स्कूल के बच्चों ने सीखे कुदरत के कहर से बचने के उपाय

0
523

जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के सौजन्य से शनिवार को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सलेटी में नुक्कड़ नाटक किया गया।नाटक के माध्यम से स्कूल के अध्यापकों ने बच्चों को प्राकृतिक आपदाओं के दौरान आपदा में बचाब करने के तरीकों के बारे में बताया। इसके साथ ही इससे होने वाले जान माल के नुकसान को कम करने की विस्तार से जानकारी दी। स्कूल के प्रधानाचार्य ने कहा कि आफत कभी बोलकर नहीं आती है।आफत से खुद को सुरक्षित रखने के लिए उस के तरीके को छात्रों को जानना बहुत आवश्यक है।

विद्यालय में अचानक आग लग जाना, भूकंप आ जाना आदि आपदाओं में कैसे छात्र खुद बचकर दूसरे छात्रों को सुरक्षित बाहर निकालेंगे। इसके लिए छात्रों को आपदाओं के उपायों को जानना जरुरी है।सरकार द्वारा आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए कई योजनाओं शुरु की हैं। उन्होंने बच्चों को जीवन रक्षा, आग से स्वयं की रक्षा, बाढ़ के प्रकोप से बचने तथा भूकंप से सुरक्षा हेतु महत्वपूर्ण एवं बहुमूल्य सुझाव भी दिये।

उन्होंने बताया कि आपातकालीन स्थिति में जिला आपदा प्रबंधन के टोल फ्री दूरभाष नंबर 1077, आपातकालीन सेवाओं के लिए 108, अग्रिशमन सेवाओं के लिए 101 तथा पुलिस सहायता के लिए 100 नंबर पर संपर्क किया जा सकता है। कार्यक्रमों के दौरान प्रिंसिपल दिनेश कुमार शर्मा, शशि भूषण, रविकांत, बलदेव सिंह, कपिल कुमार, संजीव कुमार, पुष्पा देवी, सरला देवी तथा अन्य अध्यापक भी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here